Profile

read and feed member
Radha Goel
1 year ago no Comment

ईश्वर का उपहार है बच्चें  माँ पिता का प्यार है बच्चे, बच्चों बिन सुनी है बगियाँ जैसे बिन फूलों के डालियाँ।   बच्चों को खिलने देना है रोक टोक कर मुरझा न देना, जिस दिन नाम कमाएँ जग में उस दिन कृतज्ञ प्रभु के होना।   संस्कार भी ऐसे देना सबको प्यार ,समान करें, जितना भी आगे बढ जाएं मन मे न अहंकार करें।   बच्चें काल को कैसे होंगे इस सोच से पहले खुद को परखे, इनको तुम कल दोष न देना ये तो प्रतिबिम्ब हमारा होते।   राधा…

Radha Goel is currently not a member of any User Groups.
Radha Goel does not have any friends yet.
read and feed member