पर्दे में रहने दो पर्दा न उठाओ

थोड़ा अप्रासंगिक पोस्ट.! साधिकार आग्रह कि, अगर विचाराभियक्ति से सहमति न हो, तो पटल पर संवाद दीजिये, कोई रास्ता निकल जायेगा.! इधर कुछ अजीबोगरीब पोस्ट फेसबुक पर अपनी जगह बनाये जा रहे है.! उन पोस्ट की सत्यता पर तनिक भी संदेह नहीं, पर हर सत्य को हर पटल पर परोस जाना उचित भी तो नहीं.! विचाराभियक्ति की आजादी की मैं आरम्भ से ही पक्षधर हूँ, पर यह भी तो उचित नहीं कि, नितान्त व्यक्तिगत भावनाओं का सम्प्रेषण सामाजिक स्तर पर हो.! आज जिस गति और मति से पुरुष या महिला…

Read More

खुद को खुश रखें

ज्यादातर हमारे दिन एकदम शून्य जैसे जाते हैं.. हमें पता ही नहीं होता कि हमने दिनभर किया क्या! या हम क्या करना चाहते हैं! बस सुबह जैसे मशीन की स्विच ऑन होती है और मशीन अपने काम में लग जाती है.. खाना भी हम समय पर केवल इसलिये खाते हैं क्योंकि वो सिर्फ हमारी दिनचर्या का हिस्सा है.. घड़ी के साथ-साथ हम भी तय किये गये रूटीन में घूमते रहते हैं.. अक्सर हम भूल जाते हैं कि हमारा कुछ अस्तित्व भी है.. हम दिनभर इतने उलझे रहते हैं कि हम…

Read More

थाली का बैगन

थाली के बैंगन    शीर्षक देखकर आप जरूर चौंक गए होंगे। यहाँ किसी रेसिपी की नहीं बल्कि एक अलग किस्म के पति की चर्चा हो रही है। वैसे तो पतियों के भी कई प्रकार होते हैं। कुछ रौबदार तो कुछ भावुक से होते हैं। ज्यादातर पति समय-समय पर अपने गुणों में बदलाव लाने की क्षमता रखते हैं और सफल वैवाहिक जीवन का आनंद उठाते हैं। आज की कहानी के नायक वो हैं, जो सुविधाअनुसार कभी इधर तो कभी उधर पलटी मारते रहते हैं। अपनी पोल-पट्टी खुल जाने के डर से…

Read More

बुलंद हौसलों की दास्तान – शकीला शेख

  हुनर, एक ऐसी चीज़ है जो किसी भी इंसान को निराश नहीं होने देती है. अगर आप में टैलेंट है और उसके दम पर कुछ कर गुज़र जाने का जज़्बा है, तो दुनिया की कोई ताकत आपको सफल होने से नहीं रोक सकती. इस बात को साबित किया है शकीला शेख़ ने. बेहद ग़रीब परिवार में जन्म लेने वाली शकीला की मां सड़क पर सब्ज़ी बेचकर अपना घर चलाती थीं. आज उनकी बेटी एक इंटरनेशनल आर्टिस्ट हैं.   अब हुआ ये कि 7 साल की शकीला जब पनेसर बाबू…

Read More

विश्व शांति दिवस.- 21 सितंबर

21 सितंबर यानी विश्व शांति दिवस (International Peace Day) है. हर साल इसी दिन यह दिवस मनाया जाता है. इस विश्व शांति दिवस को मनाने का मकसद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हर जगह शांति कायम हो. देशों और नागरिकों के बीच साथ ही यह भी प्रयास किया जाता है कि अंतरराष्ट्रीय झगड़ों पर भी विराम लगे. अपनी इसी बात को दुनिया तक पहुंचाने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने हर क्षेत्र जैसे साहित्य, कला, सिनेमा,संगीत और खेल जगत की प्रसिद्ध हस्तियों को शांतिदूत नियुक्त किया गया है इस साल विश्व शांति दिवस…

Read More