प्रेम

जिसके चित्र बसे नैनन, उस कृष्ण सरी का हो जीवन। रुक्मिणी से बंधे बंधन,  फिर भी प्रेम करे राधा के संग।।   रंग अनेक रहे राधा के आंगन, फिर भी श्याम मय रहे तन मन। बिहारी संग शोर मचाए, दुनिया भूली बावरी, केवल कृष्ण-कृष्ण दोहराए।।   तान खूब मधुर सुनी हो चाहे, कृष्ण की बसुरी ही राधा को भाए। गोपियां चाहे खूब नचायें, कृष्ण तो रास राधा से ही रचाएं।।   दुनिया चाहे खूब सुनाए, इन दोनों को खूब सताए। प्रेम हो कर भी मिल ना पाए, फिर भी पूरे…

Read More

आज की पत्नी

आज की पत्नी     मेरे पतिदेव भाई के लिए इंजीनियर लड़की का रिश्ता लेकर आए थे। घर में हर्ष का माहौल था। वह लड़की के बारे में मेरी माँ से बताते हुए कुछ ऐसे खो गए कि अपनी ही फिसलती वाणी का अंदाजा ना रहा। जिसके कारण अपनी मुसीबत बढा बैठे।        “इंजीनियर लड़की है। इसी जगह रिश्ते की हामी भर दीजिये। घर में दो तनख्वाह आए तो अच्छा है। वरना बीए-टीए पल्ले पड़़ जाएगी।”     “कहना क्या चाहते हो? बीए-एमए की डिग्री को कम आँकते हो?…

Read More

पहले गृहलक्ष्मी सजा लूं

“इन जबरदस्ती की ऑफिस पार्टियों में जाना मुझे बिल्कुल पसंद नहीं” भुनभुनाते हुये एक झटके में हिमानी ने शेल्फ खोली जो ड्रेस सामने दिखी वही हाथ में ले कर धड़ाम से शेल्फ बंद की| “किट्टू रो रही है जरा तुम उसको सम्हालो तो मैं कपड़े बदल लूं”  “तुम्हें दिख नहीं रहा मैं बिजी हूं” रोहन ने बिना देखे ही जवाब दिया|व दो दिन से सलून के चक्कर काटने के बावजूद रोहन को आईने के सामने खड़े पिछ्ले एक घंटे से फेसियल मसाज करते देख हिमानी अंदर ही अंदर चिढ़ गयी,…

Read More

Relationships during Lockdown

Have you ever seen a small bud bloom into a beautiful Flower? Ever wondered about the process? It only takes a little bit of nourishment and lots of patience, time and love. Same goes with any relationship. The key to a strong relationship is love, communication, patience, time and support. However, it is not all roses and unicorns when you are actually living with someone 24*7. There are a lot of  differences about opinion, habits and even personal space. As a matter of fact, it is even found in a…

Read More

नहीं चाहिए रंगमहल

मिनी और मोहित मध्यम वर्गीय परिवार के खुशहाल दम्पति थे, ३ वर्ष की बेटी के साथ जीवन भरा पूरा खुशहाल था | लेकिन तब तक जब तक कि मिनी की नजरों पर वो सामने वाला बंगला नहीं चढ़ा था, उस बंगले में कुछ तो जादू था जो देखता मानो उसके मोहपॉश में बंध जाता | ऐसा ही जादू मिनी पर भी चला था, मिनी उसे “रंगमहल” बोलती थी, मिनी के फुर्सत के पल उस बंगले को घंटों निहारने में ही जाते, मिनी अपने पति से हमेशा शिकायत किया करती कि…

Read More