भूल

तुम्हें चाहा मेरी भूल थी, तुम्हें चाहा मेरी भूल थी, तुम्हें नहीं भूल पा रही येभी मेरी भूल हैं, पाने कि चाह में हर दिन एक भूल कर रही हूँ, तुम्हें चाहना मेरी भूल थी, तुम्हें चाहना मेरी भूल थी, बहुत याद करती हूँ, बहुत चाहती हूँ में तुम्हें बहुत सोचती हूँ, कि अब नहीं सोचूंगी तुम्हें पर पर इस सोच में भी तुम्हें नहीं भूल पा रही हूँ तुम्हें चाहा मेरी भूल थी, तुम्हें नहीं भूल पा रही ये मेरी भूल हैं     

Related posts

Leave a Comment